वित्तीय तकनालॉजी क्षेत्र के भारतीय युवाओं में करीब 70 प्रतिशत अपने मोबाइल उपकरण पर खरीदारी करते हैं और 33 प्रतिशत मोबाइल ‘अलटरनेटिव’ (वैकल्पिक) भुगतान का उपयोग करते हैं

नया एसीआई विश्वव्यापी अध्ययन : भुगतान सुरक्षा और ओमनी-चैनल क्रय विकल्प भारत में युवाओं के लिए अहम मुद्दे हैं

bfrontरीयल टाइम इलेक्ट्रॉनिक भुगतान और बैंकिंग समाधान (electronic payment and banking solutions) के अग्रणी अंतरराष्ट्रीय प्रदाता, एसीआई वर्ल्डवाइड (ACI Worldwide ) (नैसडैक: एसीआईडब्ल्यू) के एक सर्वेक्षण के मुताबिक मोबाइल और वैकल्पिक भुगतान भारतीय युवाओं में अब भी लोकप्रिय बने हुए हैं। ई-कामर्स के कारण उम्मीद की जाती है कि 2021 तक ऐसे लेन-देन की संख्या पीओएस ट्रांसैक्शन से बढ़ जाएगी। यह महत्त्वपूर्ण है कि मर्चेन्ट ओमनी चैनल रणनीति का विकास करते हैं और सफलतापूर्वक लागू करते हैं। यूपी (यूनीवर्सल पेमेन्ट्स) ईकामर्स पेमेंट्स मर्चेन्ट और भुगतान सेवा प्रदाता (पीएसपी) को इस योग्य बनाता है कि भुगतान में नवीनता को अपना कर $2.2 ट्रिलियन के दुनिया भर के ईकामर्स मौके का लाभ उठाया जा सके।

शुरुआती भारतीय फिनटेक कामर्स और भुगतान अध्ययन ने फिनटेक क्षेत्र के करीब 400 कर्मचारियों से खरीदारी की उनकी आदतों और स्टोर के अंदर तथा ऑनलाइन खरीदारी के लिए भुगतान की प्राथमिकता के बारे में पूछा। इस सर्वेक्षण के प्रमुख नतीजों में निम्नलिखित शामिल हैं :

  • मोबाइल से भुगतान शुरू कर रहे हैं : 67 प्रतिशत युवाओं ने अपने मोबाइल उपकरण के जरिए सामान खरीदे। जो लोग अपने मोबाइल उपकरण के उपयोग से खरीदारी करते हैं वे ऐसा अक्सर करते हैं और ऐसे सौदे का मूल्य गैर युवाओं की तुलना में कम होता है।
  • मर्चेन्ट में विश्वास की कमी : सिर्फ 25 प्रतिशत खुलकर मानते हैं कि ऑनलाइन मर्चेन्टस उनके भुगतान विवरण को सुरक्षित रखेंगे और 35 प्रतिशत दृढ़ता से मानते हैं कि इन-स्टोर मर्चेनट ऐसा करेंगे। यह 78 प्रतिशत लोगों की तुलना में स्पष्ट उलट है जो दृढ़ता से मानते हैं कि बैंक अपने भुगतान विवरण सुरक्षित रखेंगे और इस तरह ईकामर्स क्षेत्र बढ़ने का मौका तलाश रहे बैंकों के लिए एक संभावना है।
  • वैकल्पिक भुगतान : सर्वेक्षण में भाग लेने वाले एक तिहाई से ज्यादा लोग मोबाइल से शुरू की गई खरीद के लिए वैकल्पिक भुगतान (जैसे पेपाल, अलीपे) पसंद करते हैं। डेस्कटॉप से शुरू होने वाले लेन-देन के लिए 23 प्रतिशत वैकल्पिक भुगतान पसंद करते हैं—और वैकल्पिक भुगतान का उपयोग करने वाले 95 प्रतिशत उम्मीद करते हैं कि उनका उपयोग बना रहेगा या अगले 12 महीनों में बढ़ेगा।
  • उपभोक्ता कई उपकरणों से खरीदारी करते हैं : आज के उपभोक्ता कभी भी कहीं से भी खरीदारी करना चाहते हैं। सर्वेक्षण में भाग लेने वालों ने मासिक खरीदारी की अपनी आदतों के बारे में कहा : 94 प्रतिशत ऑनलाइन खरीदारी करते हैं, 87 प्रतिशत दुकान से खरीदारी करते हैं और 65 प्रतिशत अपने मोबाइल उपकरण से खरीदारी करते हैं।

एसीआई वर्ल्डवाइड में वाइस प्रेसिडेंट और महाप्रबंधक, मध्यपूर्व, अफ्रीका और दक्षिण एशिया मनीष पटेल ने कहा, “फिनटेक कर्मचारी मर्चेन्ट के लिए आकर्षक ग्राहकों में हैं। ये खर्च करने वाले मोबाइल लोग हैं जो अच्छी और औसत से बहुत ज्यादा तनख्वाह पाते हैं तथा प्रौद्योगिकी का उपयोग जल्दी ही शुरू कर देते हैं। ऐसे लोगों की खरीदारी और भुगतान की आदतों से इस बाते के संकेत मिल जाते हैं कि भारत में बाजार किधर बढ़ रहा है।” उन्होंने आगे कहा, “ऐसे मर्चेंट जो खरीदारी का सरल और सुरक्षित ओमनी-चैनल अनुभव मुहैया करा सकते हैं और उपभोक्ताओं को भुगतान की उनकी पसंदीदा विधि मुहैया कराते हैं वे भारत में जल्दी ही विश्वास और हिस्सेदारी प्राप्त कर लेंगे।”

ओवम के वरिष्ठ विश्लेषक गिलेज उबग्स ने कहा, “भारतीय खुदरा बाजार बेजोड़ बदलाव से गुजर रहा है। उपभोक्ता भिन्न चैनल्स (स्रोतो) से खरीदारी कर रहे हैं और इसके बदले भुगतान करने के तरीके में नाटकीय बदलाव आ रहा है। नियामक तेजी से साथ हो रहे हैं और विकास की रफ्तार बढ़ेगी।” उन्होंने आगे कहा, “गैर परंपरागत उपयोगकर्ताओं के बढ़े हुए निवेश के मद्देनजर मर्चैन्ट्स को चाहिए कि तेजी से उपभोक्ताओं की बदलती हुई आवश्यकताओं के अनुकूल काम करें या वे बाजार में अपना हिस्सा खो देंगे। और ईकामर्स का अच्छा-खासा मौका चूक जाएंगे।”

Leave a Reply